स्वच्छ सन्देश: हिन्दोस्तान की आवाज़

Icon

सलीम खान का एक छोटा सा प्रयास

>मुसलमान अज़ान में सम्राट अकबर का नाम क्यूँ लेते हैं? Why Name of Emperor Akbar in Adhan?

>

गैर मुस्लिम यह समझते हैं कि मुसलमान नमाज़ के लिए बुलाने वास्ते दी जाने वाली पाँचों अज़ान में सम्राट अकबर का नाम लेते हैं !

“एक बार एक गैर मुस्लिम मंत्री भाषण दे रहे थे, वह भारत की उपलब्धियों और सफलताओं में भारतीय मुसलमानों के योगदान के बारे में रौशनी डाल रहे थे वह बता रहे थे. भारतीय सम्राटों में ‘महान सम्राट अकबर’ का स्थान सबसे ऊँचा है यही वजह है कि मुस्लिम अज़ान में सम्राट अकबर का नाम लेते हैं”

हालांकि वह गैर मुस्लिम मंत्री जी बिलकुल भी सही नहीं कर रहे थे. मैं, गैर मुस्लिम में फैली इस ग़लतफ़हमी को दूर कर देना चाहता हूँ कि मुसलमान नमाज़ के लिए बुलाने वास्ते दी जाने वाली पाँचों अज़ान में सम्राट अकबर का नाम नहीं लेते हैं. अज़ान में लिया जाने वाला शब्द ‘अकबर’ का भारत के सम्राट अकबर से कोई वास्ता नहीं रखता है.
अज़ान में लिया जाने वाला शब्द ‘अकबर’ तो भारत के सम्राट अकबर के जन्म से शताब्दियों पहले से प्रयोग किया जा रहा है.

‘अकबर’ का अर्थ होता है ‘महान’ अथवा बहुत बड़ा.

अरबी के शब्द ‘अकबर’ का मतलब होता है ‘महान’.
जब हम अज़ान में कहते है ‘अल्लाहु अकबर’ तब हम यह संबोधित करते है कि ‘अल्लाह महान हैयानि ‘Allah is Great’ or ‘Allah is the Greatest’ अर्थात ‘ईश्वर महान है‘.

और हम मुस्लिम उस एक और केवल एक अल्लाह की पूजा करते हैं, इबादत करते है जो कि बहुत महान है.

लेखक: सलीम खान

Filed under: अज़ान में सम्राट अकबर, Uncategorized

लेख सन्दर्भ

सलीम खान