स्वच्छ सन्देश: हिन्दोस्तान की आवाज़

Icon

सलीम खान का एक छोटा सा प्रयास

>बंदगी की हद से ज़्यादा तेरा सुरूर था, कैसे बताऊँ मैं तुझको तू मेरा गुरुर था.

>


जो तुम ना थे मेरे सनम
तो क्या थी ये ज़िन्दगी
कुछ भी नहीं

जो तुम नहीं हो, मेरे सनम
तो क्या है ये ज़िन्दगी 
कुछ भी नहीं

बंदगी की हद से ज़्यादा तेरा सुरूर था 
कैसे बताऊँ मैं तुझको तू मेरा गुरुर था

शाम से सुबह तक बस तेरी तलाश है  
तेरे बिना ज़िन्दगी मेरी जिंदा लाश है

तू नही तो ज़िन्दगी कैसी उदास है 
बुझती नही है ये भी कैसी प्यास है  

अक़्स-ऐ- आरज़ू लिए फिरते रहेंगे हम
पल-पल तेरी याद में मरते रहेंगे हम

मरासिम मुस्तकिल न सही, मिजाजे-आशिक़ी रहे
नगमा नहीं साज़ नही न सही तेरी मौसिक़ि रहे


जो तुम ना थे मेरे सनम
तो क्या थी ये ज़िन्दगी
कुछ भी नहीं

जो तुम नहीं हो, मेरे सनम
तो क्या है ये ज़िन्दगी 
कुछ भी नहीं

Filed under: ज़िन्दगी की आरज़ू, सलीम खान

14 Responses

  1. >बंदगी की हद से ज़्यादा तेरा सुरूर था कैसे बताऊँ मैं तुझको तू मेरा गुरुर था…..bahut khoob !!!

  2. >जो तुम नहीं हो, मेरे सनमतो क्या है ये ज़िन्दगी कुछ भी नहींBahi Jan, Bahut Khoob, Badiya Likha hai aapne . Kafi dard hai

  3. >क्या खूब लिखे हो भाई लाजवाब ।

  4. >vaah!!सलीम जी,बहुत सुन्दर बढ़िया रचना है बधाई स्वीकारें।तू नही तो ज़िन्दगी कैसी उदास है बुझती नही है ये भी कैसी प्यास है

  5. >क्या हो गया सलीम भाई, बड़े अपसेट लग रहे हैं..??

  6. >@श्याम कोरी 'उदय'jee, Tarkeshwar Giri jee, Mithilesh dubey jee, परमजीत बाली jee, महेन्द्र मिश्र jee, Sameer Sir…AAp sabka bahut bahut shukriya !!!

  7. >कार्तिकेय मिश्र (Kartikeya Mishra) jee, kabhi kisi ko mukammal jahan nahin milta……

  8. >mithilesh bhai lagta hai ab aapko koi shikayat nahin hai… call me at 9838659380

  9. >खूबसूरत रचना के लिये शुक्रिया जीमुबारकबाद स्वीकारें

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s

%d bloggers like this: