स्वच्छ सन्देश: हिन्दोस्तान की आवाज़

Icon

सलीम खान का एक छोटा सा प्रयास

>तान्त्रिकों, ज्योतिषियों और चमत्कार का दावा करने वाले विश्व के तमाम बाबाओं को खुली चुनौती !

>डा0 अब्राहम कोवूर उस सख्श का नाम है, जिसने अंधविश्वास के विरूद्ध एक जोरदार लडाई लडी है। श्री कोवूर कोलम्बो में विज्ञान विभाग के प्रधान पर कार्यरत रहे और 1959 में उससे रिटायर होने के बाद अपने इसी मिशन में लगे रहे। उनका कहना था कि जो व्यक्ति चमत्कारी शक्तियों का दावा करते हैं, केवल पाखंडी या दिमागी तौर पर पागल व्यक्ति हैं। उन्होंने तान्त्रिकों, ज्योतिषियों और चमत्कार का दावा करने वाले विश्व के तमाम बाबाओं को खुली चुनौती देते हुए 1963 में उनके सामने 22 चुनौतियाँ रखी थीं और यह घोषणा की थी कि जो भी व्यक्ति इनमें से एक चुनौती में भी खरा उतर कर दिखाएगा, उसे एक लाख रूपये का नकद इनाम दिया जाएगा

डा0 कोवूर के अनुसार निम्न प्रकार के कार्य धोखारहित परिस्थितियों में करके दिखाने वाले व्यक्ति इनाम जीत सकते हैं-

1- जो किसी सीलबंद करेंसी नोट की ठीक नकल पैदा कर सकता हो।
2- जो किसी सीलबंद करेंसी नोट का नंबर पढ सकता हो।
3- जो जलती आग में अपने देवता की सहायता से आधे मिनट के लिए नंगे पैर खडा हो सकता हो।
4- ऐसी वस्तु जो मैं मांगूं, हवा में से प्रस्तुत कर दे।
5- टेलीपैथी द्वारा किसी दूसरे व्यक्ति के विचार पढ कर बता सकता हो।
6- मनोवैज्ञानिक शक्ति से किसी वस्तु को हिला या मोड सकता हो।
7- प्रार्थना द्वारा, आत्मिक शक्ति द्वारा गंगा जल द्वारा या पवित्र राख से अपने शरीर को एक इंच बढा सकता हो।
8- जो योग शक्ति द्वारा हवा में उड सके। (स्वामी जी ध्यान दें)
9- यौगिक शक्ति से पांच मिनट के लिए अपनी नब्ज रोक सके।
10- पानी पर पैदल चल सके।
11- अपना शरीर एक स्थान पर छोड कर दूसरी जगह हाजिर हो।
12- यौगिक शक्ति द्वारा 30 मिनट के लिए श्वास क्रिया रोक सके।
13- रचनात्मक बुद्धि का विकास करे। भक्ति या अज्ञात शक्ति द्वारा अत्मज्ञान प्राप्त करे।
14- पुनर्जन्म के तौर पर कोई अनोखी भाषा बोल सके।
15- ऐसी आत्मा या प्रेत हाजिर करे, जिसकी फोटो खींची जा सकती हो।
16- फोटो खींचने के बाद वह फोटो से अलोप हो सके।
17- ताला लगे कमरे में से अलौकिक शक्ति द्वारा बाहर निकल सके।
18- किसी बस्तु का भार बढा सके।
19- छिपी हुई वस्तु को खोज सके।
20- पानी को शराब या पेट्रोल में बदल सके।
21- शराब को रक्त में बदल सके।
22- ऐसे ज्योतिषी या पण्डे, जो यह कह कर लोगों को गुमराह करते हैं कि ज्योतिष तथा हस्त रेखा वैज्ञानिक हैं, मेरे इनाम को जीत सकते हैं। यदि वे दस चित्रों या दस पत्रियों को देख कर आदमियों तथा औरतों की अलग अलग संख्या, जीवित तथा मरे की अलग अलग संख्या बता सकें या जन्म का ठीक समय और स्थान अक्षांस और देशान्तर रेखाओं सहित बता सकें। इसमें 5 प्रतिशत की गल्तियों की छूट होगी।

यह चुनौती डा0 कोवूर द्वारा सारे विश्व के अखबारों और पत्रिकाओं में प्रकाशित कराई गयी तथा ज्योतिष मैग्जीन के सम्पादक वी0वी0 रमन, यूरी गैलर तथा डयूक विश्वविद्यालय के जे0बी0 रीने समेत अन्य लोगों को भी भेजी गयी। किन्तु वर्ष 1978 में उसकी मौत तक कोई भी व्यक्ति एक भी चुनौती नहीं जीत सका। इतना ही नहीं दो व्यक्ति जमानत के रूप में जमा करवाए दो हजार रूपये हार बैठे।

Filed under: Uncategorized

8 Responses

  1. >कोवूर एशिया के जेम्स रान्डी रहे -उनकी याद दिलाने की शुक्रिया !

  2. >कोवूर एशिया के जेम्स रान्डी रहे -उनकी याद दिलाने की शुक्रिया !

  3. >ख्वाजा सलीम चिश्ती जी की मजार पर माथा टेकने वाले से पूछिए किस आशा में वे मन्नतें मांगते हैं ???धोखेबाज अलग होते हैं असली पीर फ़कीर और संत भी अलग होते हैं — सभी को एक डिब्बे में नहीं रख सकते – दुनियाभर में आज तक जो हुआ है, उसका ज्ञान , न हमें है न हर किसी को — फिर भी अन्ध्श्रध्धा उन्मूलन अच्छा प्रयास है – लावण्या

  4. >ख्वाजा सलीम चिश्ती जी की मजार पर माथा टेकने वाले से पूछिए किस आशा में वे मन्नतें मांगते हैं ???धोखेबाज अलग होते हैं असली पीर फ़कीर और संत भी अलग होते हैं — सभी को एक डिब्बे में नहीं रख सकते – दुनियाभर में आज तक जो हुआ है, उसका ज्ञान , न हमें है न हर किसी को — फिर भी अन्ध्श्रध्धा उन्मूलन अच्छा प्रयास है – लावण्या

  5. mythbuster says:

    >सलीम भाई,सच लिखा है.बस इतना और जोड़ूंगा,"विज्ञान के नियमों से जिसे समझाया न जा सके तथा दुबारा न दोहराया जा सके, ऐसा चमत्कार पूरे मानव इतिहास में न कोई कर सका है न कर सकेगा"

  6. mythbuster says:

    >सलीम भाई,सच लिखा है.बस इतना और जोड़ूंगा,"विज्ञान के नियमों से जिसे समझाया न जा सके तथा दुबारा न दोहराया जा सके, ऐसा चमत्कार पूरे मानव इतिहास में न कोई कर सका है न कर सकेगा"

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s

%d bloggers like this: