स्वच्छ सन्देश: हिन्दोस्तान की आवाज़

Icon

सलीम खान का एक छोटा सा प्रयास

>मुसलमान अज़ान में सम्राट अकबर का नाम क्यूँ लेते हैं? (Taking Name of Emperor Akbar in Azaan!)

>

गैर मुस्लिम यह समझते हैं कि मुसलमान नमाज़ के लिए बुलाने वास्ते दी जाने वाली पाँचों अज़ान में सम्राट अकबर का नाम लेते हैं !

“एक बार एक गैर मुस्लिम मंत्री भाषण दे रहे थे, वह भारत की उपलब्धियों और सफलताओं में भारतीय मुसलमानों के योगदान के बारे में रौशनी डाल रहे थे वह बता रहे थे. भारतीय सम्राटों में ‘महान सम्राट अकबर’ का स्थान सबसे ऊँचा है यही वजह है कि मुस्लिम अज़ान में सम्राट अकबर का नाम लेते हैं”

हालांकि वह गैर मुस्लिम मंत्री जी बिलकुल भी सही नहीं कर रहे थे. मैं, गैर मुस्लिम में फैली इस ग़लतफ़हमी को दूर कर देना चाहता हूँ कि मुसलमान नमाज़ के लिए बुलाने वास्ते दी जाने वाली पाँचों अज़ान में सम्राट अकबर का नाम नहीं लेते हैं. अज़ान में लिया जाने वाला शब्द ‘अकबर’ का भारत के सम्राट अकबर से कोई वास्ता नहीं रखता है.
अज़ान में लिया जाने वाला शब्द ‘अकबर’ तो भारत के सम्राट अकबर के जन्म से शताब्दियों पहले से प्रयोग किया जा रहा है.

‘अकबर’ का अर्थ होता है ‘महान’ अथवा बहुत बड़ा.

अरबी के शब्द ‘अकबर’ का मतलब होता है ‘महान’.
जब हम अज़ान में कहते है ‘अल्लाहु अकबर’ तब हम यह संबोधित करते है कि ‘अल्लाह महान हैयानि ‘Allah is Great’ or ‘Allah is the Greatest’ अर्थात ‘ईश्वर महान है‘.

और हम मुस्लिम उस एक और केवल एक अल्लाह की पूजा करते हैं, इबादत करते है जो कि बहुत महान है.

लेखक: सलीम खान

Filed under: Uncategorized

6 Responses

  1. >baza farmaaya..aur akbar se hi kabeer shabd bhi nikla hai.hazrat paigamabar sahab ke janm ke pahle ke zamaane ko zamaana e zahiliyah: kaha jaata tha, hazrat sahib ke hadees mein pure qalme tatha tareekhe islam mein is baat ko puri tarah spasht kiya gaya hai ki.shukriya..

  2. >baza farmaaya..aur akbar se hi kabeer shabd bhi nikla hai.hazrat paigamabar sahab ke janm ke pahle ke zamaane ko zamaana e zahiliyah: kaha jaata tha, hazrat sahib ke hadees mein pure qalme tatha tareekhe islam mein is baat ko puri tarah spasht kiya gaya hai ki.shukriya..

  3. >सलीम जी..आपका यह ब्लॉग बहुत उम्दा है…मैंने सप्ताह का स्वच्छ संदेश भी पढ़ा.. उसको मैं कॉपी कर रहा हूँ..🙂..मेरे एक सर हुआ करते थे करीबन २ साल पहले.. वे मुस्लिम थे…मैंने उनसे पूछा कि "अल्लाहु अकबर", अकबर के बाद बोलना शुरु किया गया होगा.. उसपर वे थोड़ा नाराज़ हो गये किन्तु उन्होंन मेरी शंका का निवारण कर दिया था…जो आपने अभी बताया .. बड़ा अच्छा कार्य कर रहे हैं आप…धन्यवाद..

  4. >सलीम जी..आपका यह ब्लॉग बहुत उम्दा है…मैंने सप्ताह का स्वच्छ संदेश भी पढ़ा.. उसको मैं कॉपी कर रहा हूँ..🙂..मेरे एक सर हुआ करते थे करीबन २ साल पहले.. वे मुस्लिम थे…मैंने उनसे पूछा कि "अल्लाहु अकबर", अकबर के बाद बोलना शुरु किया गया होगा.. उसपर वे थोड़ा नाराज़ हो गये किन्तु उन्होंन मेरी शंका का निवारण कर दिया था…जो आपने अभी बताया .. बड़ा अच्छा कार्य कर रहे हैं आप…धन्यवाद..

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s

%d bloggers like this: